IAS B. Chandrakala: खनन घोटाले की आरोपी चंद्रकला को योगी सरकार ने पांच महीने बाद दी पोस्टिंग

IAS B. Chandrakala: विवादित अफसर आईएएस बी चंद्रकला (IAS B. Chandrakala) को विशेष सचिव एपीसी शाखा (Special Secretary APC Branch) के साथ अतिरिक्त रजिस्ट्रार बैंकिंग सहकारिता विभाग का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है।

IAS B. Chandrakala: खनन घोटाले की आरोपी चंद्रकला को योगी सरकार ने पांच महीने बाद दी पोस्टिंग

IAS B. Chandrakala: उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने आखिरकार खनन मामले में फंसी यूपी कैडर कई आईएएस अफसर बी चंद्रकला (IAS B. Chandrakala)  को पांच महीने की वेटिंग के बाद एपीसी ब्रांच में नियुक्त किया है। चंद्रकला के खिलाफ ईडी और सीबीआई की जांच चल रही है।

वहीं बुधवार को योगी सरकार चार आईएएस अधिकारियों को अतिरिक्त प्रभार देने के साथ एक आईएएस का तबादला कर दिया गया है। औद्योगिक विकास आयुक्त संजीव मित्तल को पिकअप अध्यक्ष का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। ये पद आलोक टंडन के केंद्र में प्रतिनियुक्ति पर जाने के बाद खाली था। अपर मुख्य सचिव अवसंरचना और औद्योगिक विकास विभाग अरविंद कुमार को गोरखपुर औद्योगिक विकास प्राधिकरण (GIDA) और सतहरिया औद्योगिक विकास प्राधिकरण का अध्यक्ष भी बनाया गया है। जबकि मेरठ विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष मृदुल चौधरी को मंडल खाद्य नियंत्रक मेरठ का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। 

इसके साथ ही विवादित अफसर आईएएस बी चंद्रकला (IAS B. Chandrakala) को विशेष सचिव एपीसी शाखा (Special Secretary APC Branch) के साथ अतिरिक्त रजिस्ट्रार बैंकिंग सहकारिता विभाग का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। हालांकि चंद्रकला को दो मार्च को ही नियुक्त दे दी गई थी। लेकिन राज्य सरकार ने इसकी जानकारी आज दी है। राज्य सरकार के नियुक्ति विभाग की वेबसाइट में ये नियुक्ति दो मार्च को दिखाई गई है। इसके अलावा IAS अधिकारी चंद्रशेखर को अतिरिक्त आयुक्त चित्रकूट से ACEO UP और विशेष सचिव चुनाव विभाग के पद पर स्थानांतरित किया गया है। 

कौन है बी.चंद्रकला (IAS B. Chandrakala) 

बी चंद्रकला यूपी कैडर की 2008 बैच की आईएएस अफसर हैं। बी चंद्रकला (IAS B. Chandrakala)  चार जिलों मथुरा, हमीरपुर, बुलंदशहर समेत पांच जिलों में जिलाधिकारी रह चुकी हैं। राज्य में खनन घोटाले में उनका नाम आया था और वह पिछले पांच महीने से वेटिंग में थी। राज्य में खनन घोटाले में ईडी और सीबीआई जांच कर रही है। पिछली सपा सरकार में चंद्रकला (IAS B. Chandrakala)  सत्ता की करीबी अफसर मानी जाती थी और उनकी पहुंच सीधे पंचम तल तक थी। हालांकि राज्य में योगी सरकार के आने के बाद वह किनारे कर दी गई और उसके बाद शासन में ही रही। हालांकि चंद्रकला केन्द्रीय प्रतिनियुक्ति पर भी रह चुकी हैं।