क्या संकट में शिवसेना सरकार, संकटमोटक पवार से मिले उद्धव

असल में राज्य में वाजे मामले में सरकार निशाने पर है। लिहाजा एक बार फिर दोनों नेताओं ने मुलाकात कर राज्य की सियासत को गर्मा दिया है।

क्या संकट में  शिवसेना सरकार, संकटमोटक पवार से मिले उद्धव

मुंबई। महाराष्ट्र की शिवसेना की अगुवाई वाली महाविकास अघाड़ी सरकार में आने वाले हर संकट से पहले राज्य के सीएम उद्धव ठाकरे सरकार के संकटमोचक माने जाने वाले राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार से ही मिलते हैं। वहीं राज्य में एक बार फिर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने पवार से मुलाकात की। यह बैठक मुख्यमंत्री के आधिकारिक आवास वर्षा बंगले में हुई और दोनों नेताओं के बीच लगभग 45 मिनट तक बैठक चली। असल में राज्य में वाजे मामले में सरकार निशाने पर है। लिहाजा एक बार फिर दोनों नेताओं ने मुलाकात कर राज्य की सियासत को गर्मा दिया है। बताया जा रहा है कि महाराष्ट्र सरकार ने मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया और मुंबई पुलिस के सचिन वाजे के निलंबन के मामले को लेकर शरद पवार नाराज हैं।

गठबंधन सरकार में दरार- बीजेपी

बीजेपी के प्रवक्ता और विधायक राम कदम ने सचिन वाजे की गिरफ्तारी पर बड़ा बयान देते हुए कहा कि इस गिरफ्तारी से महाविकास अघाडी में दरार पैदा हो गई है। क्योंकि इस मामले में शिवसेना सीधे तौर पर सामान्य पुलिस अधिकारी के बचाव में उतरी है।

सचिन वाजे नार्को टेस्ट की मांग

बीजेपी ने सचिन वाजे का नार्को टेस्ट कराने की मांग की है। बीजेपी का कहना है कि इससे इस मामले का दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा। भाजपा ने महाराष्ट्र सरकार पर यह भी आरोप लगाया कि जो अधिकारी पूरी साजिश का प्रमुख था, वह पूरे मामले का जांच अधिकारी भी था।

यह खबर भी पढ़ें-  ठाकरे सरकार पर लगा 'कलंक'

शिवसेना बोली बदला ले रही है केन्द्र

शिवसेना सांसद संजय राउत ने अपने मुखपत्र सामना में एक लेख में लिखा है कि केंद्र सरकार और एजेंसियां ​​सबसे पहले महाराष्ट्र के काम पर हस्तक्षेप कर रीह है। संजय राउत ने केंद्र पर आरोप लगाया और लिखा कि मुंबई पुलिस पेशेवर और सक्षम है और इस तरह के हस्तक्षेप से महाराष्ट्र में अस्थिरता हो रही है।