यूपी पंचायत चुनाव: पंचायत चुनाव प्रत्याशियों के लिए गुड न्यूज, मार्च में पहले सप्ताह तक सकती है आरक्षण सूची

यूपी पंचायत चुनाव(UP Panchayat Election): उत्तर प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों (UP Panchayat Election)के लिए राज्य निर्वाचन आयोग ने पूरी तैयारी कर ली है और अब सिर्फ आरक्षण सूची( Reservation List ) का इंतजार है। बताया जा रहा है कि आरक्षण की सूची जारी करने की अंतिम तारीख 15 मार्च तय की है।

यूपी पंचायत चुनाव: पंचायत चुनाव प्रत्याशियों के लिए गुड न्यूज, मार्च में पहले सप्ताह तक सकती है आरक्षण सूची

लखनऊ। पंचायत चुनाव प्रत्याशियों के लिए गुड न्यूज। क्योंकि प्रत्याशी जो पिछले दो महीनों से जिसका इंतजार कर रहे थे, वह जल्द ही आने वाला है।  जानकारी के मुताबिक यूपी पंचायत चुनाव 2021 (UP Panchayat Election)के लिए सीटों का आरक्षण की सूची सरकार अगले महीने के पहले सप्ताह तक आ सकती है। कई जिलों में आरक्षण चार्ट ( Reservation List ) तैयार किया गया है। इसे सिर्फ इसलिए चेक किया जा रहा है ताकि कोई गलती न हो। वहीं अंतिम सूची 15 मार्च तक प्रकाशित होगी।

पंचायत चुनावों में जिला पंचायत अध्यक्षों के आरक्षण की सूची जारी की गई है। 2 और 3 मार्च को जिलाधिकारी शेष 5 सीटों के लिए आरक्षण की सूची जारी करेंगे। यह आरक्षण की पहली सूची होगी। यह सच है कि अंतिम सूची 15 मार्च को आएगी, लेकिन ध्यान देने वाली बात यह है कि आमतौर पर पहली सूची और अंतिम सूची में कोई बदलाव की उम्मीद कम ही होती है।

पंचायती राज निदेशालय में उप निदेशक और चुनाव नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए आरएस चौधरी ने एक मीडिया संस्थान को बताया कि पहली सूची जारी करने की कोई जल्दी नहीं है। जिलों में शासनादेश के अनुसार, कई बार जाँच करके पहली सूची जारी की जाती है। इसमें गलती की कोई संभावना नहीं है। इसलिए आमतौर पर इस सूची और अंतिम सूची में कोई बदलाव नहीं हुआ है।

पहली सूची 2, 3 मार्च को और अंतिम 15 

असल, आरक्षण के लिए जारी शासनादेश में यह प्रावधान है कि जिला प्रशासन द्वारा आरक्षण की सूची जारी करने के बाद आम जनता से आपत्तियां मांगी जाती हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि अगर कोई गलती हो रही है तो उसे हल किया जा सकता है। 3 मार्च को सूची जारी होने के बाद, लोगों की आपत्तियों को 12 मार्च से हल किया जाएगा। इसीलिए पहली सूची और अंतिम सूची में 12 दिनों का अंतर है। 

24 अप्रैल से पहले होंगे चुनाव

राज्य को सरकार को 24 अप्रैल से पहले पंचायत चुनाव कराने हैं। इसके लिए जोर-शोर से तैयारी चल रही है। 15 मार्च को आरक्षण सूची जारी होने के बाद, राज्य चुनाव आयोग चुनाव की तारीख की घोषणा करेगा।