सतीश बनारस तो असीम बने कानपुर के पहले पुलिस आयुक्त

उत्तर प्रदेश सरकार ने ए सतीश गणेश (satish ganesh ips) को बनारस और असीम अरूण (asim arun ips) को कानपुर का पहला पुलिस आयुक्त बनाया है। इसके साथ ही कई जिलों के कप्तान भी बदल दिए गए हैं।

सतीश बनारस तो असीम बने कानपुर के पहले पुलिस आयुक्त

लखनऊ। योगी सरकार ने गुरुवार को ही कानपुर और वाराणसी में पुलिस कमिश्नरेट प्रणाली (commissionerate system) की कैबिनेट की मंजूरी दी और इसके बाद राज्य सरकार ने एडीजी रैंक के पुलिस कमिश्नर, दो आईजी या डीआईजी रैंक के अधिकारियों और कानपुर में 8 एसपी रैंक के अधिकारियों की पोस्टिंग कर दी है। 

कम संख्या में हैं आईजी और डीआईजी

राज्य में IG और DIG रैंक के अधिकारियों की संख्या पहले से बहुत कम है। दोनों रेंजों (कानपुर और बनारस) में कम से कम दो आईजी और डीआईजी तैनात किए जाने हैं। अधिकारियों की कमी को देखते हुए दोनों पुलिस आयुक्तों में केवल डीआईजी तैनात किए जा सकते हैं। वर्तमान में, राज्य में आईजी की संख्या 31 है और डीआईजी की संख्या 36 है।

यह खबर भी पढ़ें- लखनऊ-नोएडा के बाद कानपुर और बनारस में कमिश्नरेट सिस्टम लागू करने की तैयारी में योगी सरकार

इससे पहले 1996 बैच के आईपीएस ए सतीश गणेश (satish ganesh ips) आगरा में एडीजी जोन के पद पर तैनात थे। मध्य प्रदेश के बिलासपुर के रहने वाले एक सतीश गणेश का जन्म 1969 में हुआ। वहीं 1994 बैच के आईपीएस, असीम अरुण (asim arun ips) वर्तमान में डायल 112 की जिम्मेदारी संभाल रहे थे। उत्तर प्रदेश के कन्नौज जिले के निवासी असीम अरुण (asim arun ips) का जन्म 1970 में हुआ और उनके पिता जी उत्तर प्रदेश के डीजीपी रह चुके हैं।

जानें क्या होता है कमिश्नरेट सिस्टम (commissionerate system) 

राज्य के दो मंडल कानपुर और बनारस में योगी सरकार ने कमिश्नरेट सिस्टम (commissionerate system) लागू कर दिया है। अब जिलों को दो हिस्सों में बांट दिया गया है। वाराणसी में वाराणसी नगर और ग्रामीण और कानपुर में कानपुर नगर व कानपुर आउटर में विभाजित किया गया है। कैबिनेट के निर्णय के बाद अब उक्त दोनों जिलों में पुलिस कमिश्नर की तैनाती कर दी गई है। वहीं वाराणसी नगर में पुलिस कमिश्नर और ग्रामीण में एसपी को कमान सौंपी जाएगी जबकि कानपुर नगर में पुलिस कमिश्नर और कानपुर आउटर में एसपी को कानून व्यवस्था की जिम्मेदारी दी जाएगी। जिलाधिकारी का दखल ग्रामीण क्षेत्रों में ही रहेगा वहीं नगर क्षेत्र कमिश्नरेट में कानून व्यवस्था में जिलाधिकारी का दखल नहीं होगा।

आईपीएस अफसरों के तबादले

राज्य सरकार ने कानपुर और बनारस को पुलिस कमिश्नरेट बनाने के साथ ही संयुक्त आयुक्त (Lucknow) नवीन अरोड़ा को आगरा रेंज भेजा गया है, जबकि रमित शर्मा को बरेली रेंज और एसके भगत को वाराणसी स्थानांतरित किया गया है। इसी तरह, जे रविंद्र गौड़ मिर्जापुर, दीपक कुमार अलीगढ़, जोगेंद्र कुमार झांसी, शलभ माथुर रेंज मुरादाबाद के डीआईजी बनाए गए हैं।

योगी सरकार ने बदले इन जिलों के कप्तान

इसके साथ ही योगी सरकार ने किरीट कुमार राठौर को पीलीभीत, बबलू कुमार एटीएस, मुनिराज जी आगरा, कलानिधि नैथानी अलीगढ़, रोहन पी कनय झाँसी, दिनेश कुमार पी गोरखपुर, सचिन्द्र पटेल कुशीनगर, संतोष सिंह गोंडा, शैलेश पाण्डेय अयोध्या, बृजेश कुमार सिंह इटावा, अकबर तोमर, अकबर सिंह को बहराइच का कप्तान बनाया है।

जानिए अब आपके जिले में कप्तान कौन है

किरीट कुमार राठौर - पीलीभीत

मुनिराज जी - आगरा

कलानिधि नैथानी - अलीगढ़

रोहन पी कनय- झांसी

दिनेश कुमार पी- गोरखपुर

सचिंद्र पटेल - कुशीनगर

संतोष सिंह-गोंडा

शैलेश पांडे - अयोध्या

बृजेश कुमार सिंह - इटावा

आकाश तोमर - प्रतापगढ़

सुजाता-बहराइच