लखनऊ में सपा ने अखिलेश बनाम योगी के लगाए पोस्टर, तेजी होगी लड़ाई

आज राजधानी लखनऊ की सड़कों पर एक पोस्टर लगाए गए हैं, जिसमें एक तरफ अखिलेश की फोटो है, और दूसरी तरफ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तस्वीर दिखाई गई है। इस पोस्टर के जरिए सपा ने योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा है।

लखनऊ में सपा ने अखिलेश बनाम योगी के लगाए पोस्टर, तेजी होगी लड़ाई

लखनऊ। पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के सामने सपा नेताओं द्वारा की गई बदसलूकी और मारपीट के बाद दर्ज की गई रिपोर्ट के बाद, अब मामला तूल पकड़ता जा रहा है। समाजवादी पार्टी ने आज राजधानी लखनऊ की सड़कों पर एक पोस्टर लगाया गया है, जिसमें एक तरफ अखिलेश की तस्वीर है, और दूसरी तरफ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तस्वीर है। इसके जरिए सपा ने योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा है।

असल में लखनऊ के 1090 चौराहे पर सीएम योगी आदित्यनाथ और पूर्व सीएम अखिलेश यादव की एक साथ होर्डिंग लगाई गई है। इसे मुरादाबाद में अखिलेश यादव पर एफआईआर के बाद होर्डिंग लगाया गया है। होर्डिंग में अखिलेश यादव के खिलाफ केस के लिखे जाने और योगी के खिलाफ केस को हटाने का जिक्र है। इसके जरिए सपा ने योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा है।

सपा सरकार कराएगी फर्जी एनकाउंटर की जांच

वहीं सपा प्रमुख पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि सपा सरकार बनने पर फर्जी मुठभेड़ की जांच की जाएगी। अखिलेश यादव ने कहा कि आज संविधान पर हमला हो रहा है।

यह खबर भी  पढ़ें-  पत्रकारों से मारपीट में सपा प्रमुख अखिलेश यादव पर एफआईआर, सपा ने भी कराई क्रास रिपोर्ट

अखिलेश के सामने सपा नेताओं ने पत्रकारों से की थी बदसलूकी

मुरादाबाद में पत्रकारों की पिटाई के मामले में अखिलेश यादव के साथ 20 अन्य सपा नेताओं पर रिपोर्ट दर्ज की गई है। वहीं सपा की तरफ से भी पत्रकारों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। असल में मुरादाबाद में अखिलेश यादव की मौजूदगी में उनके सुरक्षाकर्मियों और पत्रकारों के बीच झड़प हुई थी। यही नहीं सपा नेताओं ने पत्रकारों के साथ बदसलूकी भी की थी। अखिलेश के खिलाफ धारा 147, 342 और 323 के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई थी।