पंजाब स्थानीय निकाय चुनाव परिणाम (Punjab local body election result): किसान आंदोलन ने बचा ली कांग्रेस की लाज, भाजपा अकाली चित

राज्य के गुरदासपुर जिले की 29 वार्डों में कांग्रेस ने सभी को जीत लिया और विरोधियों को साफ कर दिया। आपको बता दें कि सनी देओल गुरदासपुर लोकसभा से भारतीय जनता पार्टी के सदस्य हैं।

पंजाब स्थानीय निकाय चुनाव परिणाम (Punjab local body election result): किसान आंदोलन ने बचा ली कांग्रेस की लाज, भाजपा अकाली चित

चंडीगढ़। पंजाब में आज नागरिक चुनावों के नतीजे घोषित किए जा रहे हैं। अब तक आए नतीजों में कांग्रेस को भारी बढ़त मिल रही है और राज्य के कई नगर निगमों और पंचायतों में कांग्रेस को जीत मिली है। जबकि भाजपा और अकाली दल को जबरदस्त नुकसान पहुंचा है।

राज्य के गुरदासपुर जिले की 29 वार्डों में कांग्रेस ने सभी को जीत लिया और विरोधियों को साफ कर दिया। आपको बता दें कि सनी देओल गुरदासपुर लोकसभा से भारतीय जनता पार्टी के सदस्य हैं। किसान आंदोलन के दौरान पंजाब में भारी विरोध हुआ है। जिसका असर स्थानीय निकाय चुनावों में देखने को मिल रहा है।

वहीं गुरदासपुर के अलावा, पठानकोट, भटिंडा, कपूरथला में अधिकांश वार्डों में कांग्रेस पार्टी जीतती हुई दिखाई दे रही है। पठानकोट में 50 में से 13, भटिंडा और कपूरथला में कांग्रेस ने एकतरफा चुनाव जीता है। खास बात यह है कि कई नगर निगमों में निर्दलीय उम्मीदवारों ने भाजपा या अकाली दल से बेहतर प्रदर्शन किया है।

वर्ष 2017 में हुए नागरिक चुनावों की बात करें तो इस बार भी कांग्रेस ने अपना रिकॉर्ड बरकरार रखा है और पूरी तरह से कब्जा कर लिया है। जबकि 2017 में कांग्रेस ने पटियाला, अमृतसर और जालंधर नगर निगम पर कब्जा किया था।

केंद्र सरकार द्वारा लाए गए कृषि कानूनों के खिलाफ शुरू हुए किसान आंदोलन की नींव पंजाब में ही पड़ी। यही कारण था कि हर कोई इस बार स्थानीय निकाय चुनाव को देख रहा था। पंजाब के इन नागरिक चुनावों को किसान आंदोलन के लिटमस टेस्ट के रूप में जाना जाता है, जिसमें कांग्रेस पार्टी जीतती हुई नजर आ रही है। माना जा रहा है कि चुनाव का असर विधानसभा चुनाव में भी देखने को मिलेगा।