Priyanka Gandhi: बागी हुए नेता तो भाई की मदद को केरल मिशन पर पहुंची प्रियंका

Priyanka Gandhi: प्रियंका गांधी 30 मार्च को त्रिवेंद्रम और कोल्लम में और 31 मार्च को त्रिशूर में चुनाव प्रचार (Priyanka Gandhi will campaign) करेंगी। इस दौरान वह रोड शो, जनसभाएं और रैलियां करेंगी।

Priyanka Gandhi:  बागी हुए नेता तो भाई की मदद को केरल मिशन पर पहुंची प्रियंका
Priyanka Gandhi

Priyanka Gandhi: केरल विधानसभा चुनाव में कांग्रेस में सत्ता में काबिज होने का यकीन है और इसलिए अब कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Congress general secretary Priyanka Gandhi) अगले महीने 6 अप्रैल को केरल में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए दो दिवसीय दौरे पर मंगलवार को केरल जाएंगी। प्रियंका गांधी पहली बार दक्षिण (assembly elections in the South) में विधानसभा चुनावों में प्रचार (Priyanka Gandhi will campaign) करेंगी। इससे पहले 2019 के लोकसभा चुनाव में प्रियंका गांधी ने वायनाड (Wayanad) में राहुल गांधी के लिए चुनाव प्रचार किया था।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी 30 मार्च को त्रिवेंद्रम और कोल्लम (Priyanka Gandhi will campaign in Trivandrum and Kollam) और 31 मार्च को त्रिशूर में चुनाव प्रचार करेंगी। वहीं इस दौरान वह रोड शो और जनसभाएं करेंगी। प्रियंका गांधी त्रिशूर (Thrissur) में एक रोड शो करेंगी। कांग्रेस नेता प्रोफेसर राजीव गौड़ा ने कहा कि राहुल गांधी (Rahul Gandhi) पहले से ही चुनाव प्रचार कर रहे हैं और अब जब प्रियंका गांधी आएंगी। इससे कांग्रेस को राज्य में चुनाव प्रचार में मदद मिलेगी।

केरल पर कांग्रेस का फोकस

असल में लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के अच्छे प्रदर्शन के बाद केरल में राहुल गांधी धुंआधार दौरे कर रहे हैं और अब चुनाव के दौरान प्रचार कर रहे हैं। खास बात यह है कि वे जिन लोगों के लिए प्रचार कर रहे हैं, वे कांग्रेस के युवा नेता हैं। राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने चुनावी सभा में नौकरियों के मुद्दे पर राज्य और केंद्र सरकार को घेरा, जबकि साथ ही लोगों को बताया कि कांग्रेस पार्टी अधिक से अधिक युवाओं को चुनाव लड़ने का मौका दे रही है।

यह खबर भी पढ़ें- कांग्रेस के लिए केरल में ये शुभ संकेत नहीं, एक और नेता ने छोड़ी पार्टी और खामोश 10 जनपथ

केरल में चुनाव प्रचार (election campaign in Kerala) के दौरान कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी बार-बार कहते रहे हैं कि इस बार उन्होंने 55 प्रतिशत युवाओं को टिकट दिया है। केरल की सबसे युवा उम्मीदवार 27 वर्षीय अरीता बाबू जो दूध डेयरी चलाती हैं, को टिकट दिया गया है। 6 अप्रैल को केरल विधानसभा (Kerala Assembly) की 140 सीटों पर चुनाव होंगे।