महाराष्ट्र सरकार ने आदित्य ठाकरे (Aditya Thackeray) के नाम पर शुरू की सरकारी योजना, जानें क्या है योजना में

औरंगाबाद समाज कल्याण विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि जिन्होंने 10 वीं कक्षा उत्तीर्ण की है वे योजना का लाभ ले सकते हैं। विभाग का कहना है कि आदित्य ठाकरे युवाओं के प्रतिनिधि और रोल मॉडल हैं।

महाराष्ट्र सरकार ने आदित्य ठाकरे (Aditya Thackeray) के नाम पर शुरू की सरकारी योजना, जानें क्या है योजना में
महाराष्ट्र सरकार ने आदित्य ठाकरे (Aditya Thackeray) के नाम पर शुरू की सरकारी योजना, जानें क्या है योजना में

मुंबई। महाराष्ट्र में औरंगाबाद (Aurangabad) जिला परिषद ने राज्य सरकार में मंत्री आदित्य ठाकरे (Aditya Thackeray)  के नाम पर योजना शुरू की है। जिसके तहत युवाओं को वाहन प्रशिक्षण के बाद लाइसेंस मिलेगा और विभाग इस पर होने वाले खर्च का भुगतान करेगा। अधिकारी ने शुक्रवार को कहा कि इस योजना के लिए 30 लाख रुपये की राशि आवंटित की गई है और अनुसूचित जाति (एससी), अनुसूचित जनजाति (एसटी) और घुमंतू जनजाति (एनटी) के लोग इसका लाभ उठा सकते हैं।

जिले के समाज कल्याण विभाग के अधिकारी शिवराज केंद्रे ने कहा, 'हमने आदित्य ठाकरे के नाम पर शुरू की गई योजना के तहत आवेदन आमंत्रित किए हैं। प्रशिक्षण पूरा करने के बाद आवेदकों को एक प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होगा, जिसके बाद प्रशिक्षण का खर्च लाभार्थी के खाते में पहुंच जाएगा। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने 10 वीं कक्षा उत्तीर्ण की है, वे योजना का लाभ उठा सकते हैं। जिला परिषद में समाज कल्याण समिति के अध्यक्ष राजेंद्र राठौड़ ने कहा कि जिला परिषद की आम सभा ने भी इस योजना को मंजूरी दे दी है, जो इस साल शुरू होगी।


मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, जिला परिषद समाज कल्याण समिति द्वारा एक योजना प्रस्तुत की गई थी। आदित्य ठाकरे यूथ फोर व्हीलर चालक लाइसेंस प्रशिक्षण योजना के तहत, ग्रामीण क्षेत्रों में पिछड़े वर्गों के युवाओं को ड्राइविंग सिखाई जाएगी। सरकार इस योजना के माध्यम से रोजगार के अवसर बढ़ाना चाहती है। समाज कल्याण अध्यक्ष मोनाली राठौर का कहना है कि आदित्य ठाकरे युवाओं के प्रतिनिधि और रोल मॉडल हैं।