पंचायत में तीन बार पति ने किया राजीनामा तो चौथी बार बीवी ने रख दी शौहर के सामने बड़ी शर्त

जानकारी के मुताबिक छह साल पहले हुआ था निकाह। दहेज की मांग को लेकर उत्पीड़न कर रहा था शौहर। दो साल पहले मारपीट कर बेहोशी की हालत में फेंका था घर के बाहर। बीवी ने दर्ज कराया था मुकदमा। अब शौहर के बर्ताव से संतुष्ट होने के बाद ही बाद वापस लेगी मुकदमा।

पंचायत में तीन बार पति ने किया राजीनामा तो चौथी बार बीवी ने रख दी शौहर के सामने बड़ी शर्त

आगरा। शौहर ने कमजोर समझ लिया और रोज मारता-पीटता और घर से निकाल देता। चार बार घर से निकालने के बाद उसे हर बार मामला बिरादरी की पंचायत में लेकर जाता। वहां बीवी और उसके स्वजन से वादा करके अपने साथ ले जाता था। दो साल पहले बीवी को बुरी तरह पीटा और बेहोशी की हालत में घर के बाहर डाल दिया और इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने युवती को अस्पताल में भर्ती कराया। आरोपित शौहर के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया। मामला कोर्ट में पहुंचने पर शौहर एक बार फिर बिरादरी की पंचायत बुलाकर उसमें राजीनामा करने का दबाव बनाने लगा। बीवी को घर बुलाने के लिए मुकदमा वापस लेन की शर्त रख दी। मगर, इस बार वीबी ने भी समझदारी दिखाई। शौहर से दो टूक कह दिया कि वह मुकदमा वापस नहीं लेगी। कुछ दिन बतौर ट्रायल शौहर के साथ रहेगी और अगर उसका व्यवहार समझ में आएगा तो वह अपनी शिकायत वापस लेगी। महिला ने एसएसपी के यहां आरोपित शौहर के खिलाफ शिकायत की है।

ये मामला जिले के मंटोला क्षेत्र की रहने वाली युवती का है। युवती ने बताया कि उसकी शादी करीब पांच वर्ष पूर्व सदर निवासी युवक से हुई थी शौहर का डेयरी का काम है और शादी के कुछ दिन बाद से उसने बीवी का उत्पीड़न शुरू कर दिया। जबकि स्वजन ने 20 लाख रुपये में शादी में खर्च कए थे। इसके बावजूद शौहर और ससुराल वाले और दहेज की मांग कर रहे थे। उसने मना किया तो तीन साल पहले मारपीट करके घर से निकाल दिया।इसके बाद बिरादरी की पंचायत हुई। 

बीवी के मुताबिक कुछ ही महीने बाद शौहर ने दोबारा मारपीट शुरू कर दी। इस बार भी दहेज के लिए घर से निकाल दिया। इसके बाद एक बार फिर बिरादरी की पंचायत बुलाई गई और इस बार भीर शौहर दोबारा परेशान नहीं करने का भरोसा देकर अपने साथ गया। इस तरह शौहर उसे चार बजे बिरादरी की पंचायत में मामला सुलझाने का भरोसा देकर ले गया था। दो वर्ष पहले शौहर ने उसे बुरी तरह पीटने के बाद बेहोशी की हालत में घर के बाहर छोड़ दिया था। लोगों की सूचना पर पुलिस ने उसे अस्पताल ले जाकर भर्ती कराया। सही होने के बाद उसने शौहर के खिलाफ दहेज उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज कराया इस बार उसने शौहर के साथ जाने से मना कर दिया। मामला अब कोर्ट में चल रहा है।

बीवी का कहना है कि शौहर अब फिर से राजीनामा करने का दबाव बना रहा है। ताकि पुलिस के मामले से बच जाए। उसने बिरादरी की पंचायत के माध्यम से राजीनामा करके जाने से मना कर दिया। उधर,पति ने भी अब शर्त रख दी है कि वह जब तक मुकदमा वापस नहीं लेती। वह उसे अपने साथ लेकर नहीं जाएगा। मगर, शौहर का दांव इस पर उल्टा पड़ गया। बीवी ने शर्त रख दी कि वह कम से कम छह महीने उसके साथ रहेगी। उसके रवैये मे यदि बदलाव आया होगा तो साथ जाएगी। इस बार पंचायत बिरादगी की नहीं बल्कि पुलिस के माध्मय से जाना चाहती है। इसे लेकर पीड़िता ने एसएसपी के यहां शौहर द्वारा फोन पर धमकी देने की शिकायत की।