सात महीने में करीब 11 हजार रुपये गिरे सोने के दाम, क्या यही है पीली धातु खरीदने का सही समय या करें इंतजार

आज इसकी कीमत उच्चतम स्तर से लगभग 11 हजार रुपये कम है। वहीं 2 मार्च को सोने का वायदा भाव 44,760 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया था।

सात महीने में करीब 11 हजार रुपये गिरे सोने के दाम, क्या यही है पीली धातु खरीदने का सही समय या करें इंतजार

नई दिल्ली। घरेलू बाजार में सोने की कीमत में लगातार गिरावट देखी जा रही है। अगस्त 2020 में सोना 56200 रुपये प्रति 10 ग्राम के उच्च स्तर पर पहुंच गया था। वहीं आज इसकी कीमत उच्चतम स्तर से लगभग 11 हजार रुपये कम है। वहीं 2 मार्च को सोने का वायदा भाव 44,760 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया था। यानी सात महीने में यह 11,500 रुपये सस्ता हो गया है। जबकि आज सोने के भाव में थोड़ा इजाफा हुआ है और सोना वायदा 45,500 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया।


इस साल 5,540 रुपये सस्ता हुआ सोना

असल में इस साल अभी तक सोने की कीमत 5540 रुपये की गिरावट आई है। वहीं जनवरी के शुरूआत में सोने की कीमत 50,300 रुपये प्रति 10 ग्राम थी और अब तक सोने में 5,540 रुपये सोने की कीमत में गिरावट दर्ज की गई है। वहीं अगर चांदी बात करें तो घरेलू बाजार में चांदी महंगी हो गई है। इसमें लगभग 2260 रुपये की बढ़ोतरी हुई है। 1 जनवरी को चांदी वायदा 66,950 रुपये थी, जो अब 67,073 रुपये प्रति किलोग्राम के करीब है।


सोने और चांदी पर कम हुआ है आयात शुल्क 

1 फरवरी 2021 को सरकार ने सोने और चांदी पर आयात शुल्क में कटौती की घोषणा की। इसके पीछे सरकार का मकसद कीमती धातुओं की कीमतों को नीचे लाना था वहीं रत्न और आभूषणों के निर्यात को प्रोत्साहित करना था। वहीं सरकार ने सोने और चांदी पर सीमा शुल्क घटाकर 7.5 फीसदी कर दिया जिसके बाद सोने की कीमतों में लगातार गिरावट दे खी जा रही है। 

यह भी पढ़ें:- चौथे दिन सोने चांदी की कीमत में आई गिरावट

क्या कहते हैं बाजार के जानकार बाजार के जानकारों का कहना है कि फिलहाल सोने की कीमतों में भारी बदलाव देखने को नहीं मिलेगा। वहीं सोने की कीमत बाजार में 44,500 से 45000 रुपये प्रति 10 ग्राम के बीच रह सकती है।  उनका कहना है कि बाजार में सोने की कीमत 45000 रुपये से नीचे भी आ सकती है। फिलहाल सोना निवेशकों के लिए आज भी निवेश का अच्छा टूल माना जाता है।