अरुण कुमार सिंह होंगे बिहार ने नए चीफ सेक्रेटरी, दीपक कुमार सीएम के सलाहकार

असल में दीपक कुमार को दो बार एक्सटेंशन मिल गया था। जिसके बाद हालांकि कयास लगाए जा रहे थे कि उन्हें फिर से चीफ सेक्रेटरी के लिए एक्सटेंशन दिया जा सकता है। लेकिन अब नीतीश कुमार ने वरिष्ठता सूची के तहत अरुण कुमार सिंह को बिहार का मुख्य सचिव नियुक्त किया है। वहीं दीपक कुमार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सलाहकार के तौर पर काम करेंगे।

अरुण कुमार सिंह होंगे बिहार ने नए चीफ सेक्रेटरी, दीपक कुमार सीएम के सलाहकार
अरुण कुमार सिंह होंगे बिहार ने नए चीफ सेक्रेटरी, दीपक कुमार सीएम के सलाहकार

पटना। बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने आईएएस अफसरों की वरिष्ठता को ध्यान में रखते हुए वरिष्ठ आईएएस अफसर अरुण कुमार सिंह(Arun Kumar Singh) को राज्य का नया चीफ सेक्रेटरी नियुक्त किया है। जो अब दीपक कुमार के स्थान पर बिहार के मुख्य सचिव होंगे। दीपक कुमार का कार्यकाल कल या रविवार को समाप्त हो रहा है।

फिलहाल राज्य सरकार दीपक कुमार(Deepak kumar) को एक्सटेंशन नहीं दे रही है। वहीं बताया जा रहा है कि दीपक कुमार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) का सलाहकार होगे। दीपक कुमार 1984 बैच के बिहार कैडर के आईएएस अधिकारी हैं। उन्हें पहले 29 फरवरी 2020 को सेवानिवृत्त होना था। केंद्र की अनुमति के बाद, राज्य सरकार ने उन्हें छह महीने के लिए सेवा विस्तार दिया। बिहार चुनाव और कोरोना संक्रमण के मद्देनजर, उन्हें फिर से सेवा विस्तार मिला।

बताया जा रहा है कि गृह विभाग के अतिरिक्त सचिव आमिर सुभानी के पद में भी बदलाव की तैयारी है। उन्हें अब विकास आयुक्त बनाया जाएगा। वहीं राज्य में नए चीफ सेक्रेटरी नियुक्ति के बाद नौकरशाही में बड़े बदलाव किए जाने की संभावना है।

यह भी पढ़ें;- कौन होगा बिहार का नया चीफ सेक्रेटरी, नीतीश कुमार ने नहीं खोले पत्ते

जानें कौन हैं अरूण कुमार

अरुण कुमार सिंह 1985 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा(IAS) के अधिकारी हैं। वह वरीयता के मामले में सबसे ऊपर थे। हालांकि राज्य के सीएम नीतीश कुमार नौकरशारी में किसी भी तरह की छेड़छाड़ करने के पक्ष में नहीं थे और वरिष्ठता सूची के आधार पर ही चीफ सेक्रेटरी की नियुक्ति करना चाहते थे। पश्चिम चंपारण के रहने वाले अरुण इस साल 31 अगस्त को सेवानिवृत्त होंगे। वर्तमान में, वे विकास आयुक्त के अलावा, बिहार लोक प्रशासन और ग्रामीण विकास संस्थान के महानिदेशक के अतिरिक्त प्रभार उनके पास है। उन्होंने मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की। अरुण कुमार सिंह विकास आयुक्त के पद पर तैनात होने से पहले जल संसाधन विभाग के प्रधान सचिव थे। उन्होंने जल संसाधन विभाग में लंबे समय तक काम किया है। इसके अलावा, उन्होंने पथ निर्माण विभाग के प्रधान सचिव के रूप में भी काम किया है। ने सूचना और प्रौद्योगिकी विभाग के सचिव का काम भी देखा है।

यह भी पढ़ें:- क्या नीतीश सरकार दीपक कुमार को देगी तीसरी बार सेवा विस्तार

दीपक कुमार को मिलेगा अहम पद

राज्य में चर्चा है कि दीपक कुमार को सीएम का सलाहकार बनाया जाएगा। हालांकि ये खबर www.galiyara.net प्रकाशित कर दी थी कि चीफ सेक्रेटरी के पद पर तीसरी बार सेवा विस्तार न मिलने की स्थिति में उन्हें नीतीश कुमार सरकार ज्यादा ताकतवर पद पर नियुक्त करेगी। ताकि राज्य में नीतीश कुमार सरकार की योजनाओं को अच्छी तरह से लागू किया जा सके। असल में आने वाले एक साल तक राज्य में चीफ सेक्रेटरी कम अवधि के लिए नियुक्त होंगे। जिसके कारण राज्य सरकार की योजनाएं प्रभावित हो सकती हैं। लिहाजा सीएम के सलाहकार के तौर पर दीपक कुमार की मौजूदगी के कारण राज्य की योजनाओं में किसी भी तरह का असर नहीं होगा।