श्रीधरन के बाद अब केरल उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश हुए बीजेपी में शामिल

मेट्रो मैन ई श्रीधरन, जो पहले ही बीजेपी में शामिल हो चुके हैं और वह 25 फरवरी को केरल के मलप्पुरम में एक रैली में औपचारिक रूप से बीजेपी में शामिल हो गए।

श्रीधरन के बाद अब केरल उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश हुए बीजेपी में शामिल

तिरूअनंतपुरम। केरल में होने वाले विधानसभा चुनाव में मेट्रो मैन ई श्रीधरन के बाद एक और बड़ी एंट्री बीजेपी में हुई है। राज्य में केरल हाईकोर्ट के पूर्व जज पीएन रवींद्र बीजेपी में शामिल हो गए। पूर्व न्यायाधीश पीएन रवींद्र केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की उपस्थिति में भाजपा में शामिल हुए। जस्टिस पीएन रवींद्र के भाजपा में प्रवेश को विपक्ष के लिए एक बड़े झटके के रूप में देखा जा रहा है। हालांकि इससे पहले राज्य के डीजीपी भी बीजेपी में शामिल हो  चुके हैं।

मेट्रो मैन ई श्रीधरन, जो पहले ही बीजेपी में शामिल हो चुके हैं और वह 25 फरवरी को केरल के मलप्पुरम में एक रैली में औपचारिक रूप से बीजेपी में शामिल हो गए। तब उनके सात केंद्रीय मंत्री आरके सिंह भी मंच पर मौजूद थे। केरल की राजनीति में मेट्रो मैन का प्रवेश बहुत महत्वपूर्ण माना जा रहा है। असल बीजेपी में राज्य में कई अफसर और नेता जुड़ रहे हैं।

श्रीधरन को मेट्रोमैन के रूप में जाना जाता है और बड़ी बुनियादी ढांचा परियोजनाओं को पूरा करने में कुशल माना जाता है। बीजेपी में शामिल होने के वक्त उन्होंने कहा कि उनका मुख्य उद्देश्य भाजपा को केरल में सत्ता में लाने में मदद करना है। श्रीधरन का भारतीय जनता पार्टी में प्रवेश केरल में पार्टी के लिए एक प्रमुख प्रेरणा के रूप में देखा जा रहा है।

राज्य में 6 अप्रैल को हैं चुनाव

केरल की 140 विधानसभा सीटों के लिए एक ही चरण में मतदान होगा। चुनाव आयोग ने मतदान के लिए 6 अप्रैल की समय सीमा तय की है। चुनाव आयोग के अनुसार, कुल 26788268 मतदाता इस चुनाव में शामिल होंगे। कोरोना महामारी को ध्यान में रखते हुए, चुनाव आयोग ने केरल में मतदान केंद्रों की संख्या में भी वृद्धि की है। पिछले चुनाव में कुल 21498 बूथ थे, जिन्हें इस बार बढ़ाकर 40771 कर दिया गया है।